साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को, नहीं लगेगा सूतक काल, जानें पूरी डिटेल

साल का आखिरी चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) 30 नवंबर को है।
इस बार कार्तिक शुक्ल की पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण पड़ रहा है।
धार्मिक दृष्टि से देखा जाए तो कार्तिक पूर्णिमा काफी पवित्र मानी
जाती है।

यह उपच्छाया ग्रहण यानी पेनुमब्रल चंद्र ग्रहण होगा। इस
समय चंद्रमा का रंग हल्का गहरा हो जाएगा। कई विद्वानों का मत है,
जब उपच्छाया ग्रहण लगता है तब इसके सूतक काल को मान्य नहीं
माना जाता। सूतक काल पूर्ण ग्रहण में मान्य होता है। सूतक काल में
किसी भी प्रकार के शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं।

पूर्ण चंद्र ग्रहण में
ग्रहण लगने से 9 घंटे पहले सूतक काल शुरू हो जाता है। चंद्र ग्रहण
इस बार वृषभ राशि में लगने जा रहा है। पंचांग के अनुसार इस दिन
रोहिणी नक्षत्र रहेगा। 30 नवंबर को पड़ने वाला चंद्रग्रहण उत्तर और
दक्षिण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और एशिया के कुछ हिस्सों में दिखाई
देगा। भारतीय समय अनुसार यह चंद्र ग्रहण दोपहर 1:04 बजे शुरू
होकर शाम 5:22 बजे तक रहेगा।

ग्रहण के समय चंद्रमा क्षितिज से
नीचे होने की वजह से देश में कई हिस्सों में नहीं दिखाई देगा। वहीं
चंद्रोदय के समय देश के कुछ उत्तरी, मध्य और पूर्वी राज्यों के कुछ
हिस्सों में इसका हल्का स्वरूप देखा जा सकेगा। इनमें यूपी, बिहार,
मध्यप्रदेश, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा,
असम, पश्चिम बंगाल और सभी पूर्वोत्तर के राज्य शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.