सीपीयू और यूपीएस में क्या अंतर है? जानिए

CPU -इसका पूरा नाम central processing unit है इसे कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है क्योंकि सीपीयू कंप्यूटर कंप्यूटर के हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर से प्राप्त सभी निर्देशों को संभालता है एवं input devices से प्राप्त डाटा एवं निर्देश को प्राप्त करता है एवं उनका प्रोसेस करता है तब हमें यह परिणाम देता है सीपीयू के तीन भाग होते हैं

1-Control unit -Control Unit जिसे CU भी बोलते हैं कम्प्युटर का Manager होता हैं. जो सभी Operations को नियत्रिंत करता हैं. Control Unit Memory, Logical Unit, Input & Output Devices को बताता हैं कि किसी प्रोग्राम से प्राप्त निर्देशों का किस प्रकार पालन करना हैं.

2-Memory -इसमें कंप्यूटर का भंडारण गोदाम कहा जाता है क्योंकि उसमें कंप्यूटर का सारा डाटा इकट्ठा होता है

3-ALU (arithmetic and logical unit)-यह Unit सिर्फ दो कार्य करती हैं. पहला डाटा पर गणितिय क्रिया करना. और दूसरा, परिणाम देना. ALU CPU की सबसे Complex और Important Part इकाई होती हैं.

UPS- इसका पूरा नाम Uninterruptible Power Supply है इस्तेमाल हम तब करते हैं जब इलेक्ट्रिसिटी चली जाती है और हमारा कंप्यूटर अचानक बंद ना हो जाए और हमारा कंप्यूटर और डाटा सुरक्षित रहें इसलिए इसका यूज किया जाता हैं

Ups कैसे करता है काम यूपीएस के अंदर 4 पार्ट होते हैं पहले पार्ट में एक रिचार्जेबल बैटरी होती है यही बैटरी आपके पावर का मुख्य केंद्र होती है इसके दूसरे पार्ट में एक चार्जर होता है जो इसे चार्ज करता हैं इसके तीसरे पार्ट में एक इनवर्टर होता है जो कि डीसी को ईसी में बदलता है चौथे भाग मेंStatic Bypass/UPS Bypass Switch होता है जब लाइट आ रही होती है तो यह बाई बस आपकी बैटरी को चार्ज करता रहता है और जैसे ही लाइट चली जाती है Static Bypass Switch ऑटोमेटिक सर्किट को बंद कर देता है और आपके यूपीएस में लगे हुए इनवर्टर को ऑन कर देता है इसमें एक कोई भी समय नहीं लेता है यानी आपके कंप्यूटर को पता ही नहीं चलता है कि लाइट चली गई है

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *