सेंधा नमक खाने के क्या फायदे होते हैं? जानिए

लवण याने नमक खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ बीमरियों के इलाज में भी उपयुक्त होता है। आयुर्वेद में लवण के ५ प्रमुख प्रकार बताए गए है – सैंधव, सौवर्चल, विड, सामुद्र, और औद्भिद l

सैंधव नमक को इन में सबसे अच्छा माना गया है l

रासायनिक रूप से, सैंधव नमक को सोडियम क्लोराइड / रॉक साल्ट / बे साल्ट माना जाता है l सैंधव नमक की उत्पत्ति लाखों साल पहले वाष्पित समुद्र की सतह से होती है जहा यह शुद्ध क्रिस्टल के रूप में पाया जाता है l इस नमक में मानव शरीर में पाए जानेवाले लगभग सभी तत्व शामिल हैं l

सेंधा नमक संभवतः नमक का शुद्धतम रूप है, जो पर्यावरण प्रदूषकों, रसायन घटकों से मुक्त है और इसे शोधन प्रक्रिया की आवश्यकता नहीं है। इसमें कैल्शियम, आयरन, जिंक, पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर जैसे ८४ खनिज होते है।

सैंधव नमक का उपयोग बाहरी और आंतरिक रूप से किया जाता है और इसके खनिजों की संरचना हमारे शरीर के समान होने से यह आसानी से अवशोषित हो जाता है।

सैंधव नमक के लाभ :

१. यह मृत त्वचा कोशिकाओं को एक्सफोलिएट करने में और त्वचा के छिद्रों को साफ करने में मदत करता है lत्वचा के प्राकृतिक परत की रक्षा कर, त्वचा को स्वस्थ और मजबूत बनाने में भी मदत करता है।यह त्वचा को फिर से rejuvenate करके युवा और toned दिखने में मदत करता है।

२. रक्तचाप नियंत्रित करे:-सैंधव नमक हाई ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करने में काफी लाभदायक है ।इसी के साथ यह कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करता है जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम रहता है ।

३.पाचन में हैं सहायक:-आयुर्वेदिक में, सैंधव नमक का उपयोग पेट के कीड़े, सीने में जलन, गैस, कब्ज, पेट दर्द और उल्टी सहित विभिन्न पाचन बीमारियों के लिए एक घरेलू उपचार के रूप में किया जाता है।टेबल नमक की जगह खाने में इसका उपयोग करे lएक गिलास लस्सी में सैंधव नमक और ताज़े पुदीने की कुछ पत्तियाँ डालकर पिए l

४. पानी में सेंधा नमक डालकर गरारा करने से गले की खराश, टॉन्सिल्स, सूखी खांसी, साइनस और अन्य बीमारियों में मदत मिल सकती है।पानी में सेंधा नमक घोलें और भाप लें।

५. सेंधा नमक इंसुलिन को फिर से सक्रिय करके शुगर क्रेविंग्स (sugar cravings) को कम करता है, और इसके परिणामस्वरूप वजन कम होता है।टेबल नमक के बजाय फलों पर थोड़ा सेंधा नमक छिड़क सकते हैं।खाने में भी टेबल साल्ट की जगह सैंधव नमक का इस्तमाल करे l

६. सेंधा नमक शरीर और दिमाग को आराम देने में मदत करता है l यह सेरोटोनिन और मेलाटोनिन हार्मोन्स का बैलेंस बनाएं रखता है जो तनाव से लड़ने में मदद करते है lतनाव और चिंता होनेपर, पानी में एक बड़ा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं और आराम से स्नान करें।

७. सेंधा नमक मेलाटोनिन के स्तर को नियंत्रित कर नींद चक्र को नियंत्रित करता है l

८. सेंधा नमक बालों से प्राकृतिक तेलों को अलग किये बिना गंदगी हटाता है।इसे अपने सामान्य शैम्पू में मिलाएं और इससे बालों को धो लें।

९. मसूड़ों से खून निकलता हो तो १ चम्मच सेंधा नमक, त्रिफला चूर्ण और नीम पाउडर मिलाकर मसूड़ों की मालिश करें और पानी से कुल्ला करें।

१०. सेंधा नमक सभी आवश्यक ट्रेस खनिज प्रदान करता है और शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाता है l यह हानिकारक बैक्टीरिया से लड़ता है और बीमारियों को दूर करने में मदत करता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *