हनुमान जी को तेल और सिंदूर क्यों प्रिय हैं?

ज्योतिषी कहते हैं कि बजरंगबली को अति प्रिय सिंदूर है. इसलिए हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करना और लेपन करना अत्यंत शुभ माना जाता है. मान्यता है कि हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करने से हनुमान जी प्रसन्न होकर भक्तों के सभी कष्ट दूर कर देते हैं. हनुमान जी ने एक बार सीता माता से प्रेरित होकर सिंदूर लगा लिया था. तब से उन्हें सिंदूर अर्पित करना शुभ माना जाता है. हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करके कर्ज, मर्ज और दुर्घटना से भी बचा जा सकता है.

सिंदूर का महत्व-

हिंदू धर्म में भी सिंदूर को बहुत महत्व दिया जाता है. भारतीय परंपरा के मुताबिक, सिंदूर किसी भी सुहागन के माथे का ताज माना जाता है. सिंदूर का प्रयोग दांपत्य जीवन की खुशहाली के लिए भी किया जाता है. कहते हैं सिंदूर मुख्यत नारंगी रंग का होता है. महिलाएं इसे सौभाग्य और श्रृंगार के लिए प्रयोग करती हैं. बिना सिंदूर के विवाह की कल्पना भी नहीं की जा सकती है. इसको मंगल ग्रह से जोड़ा जाता हैं. इसलिए इसे मंगलकारी माना जाता है.

हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करने के नियम क्या हैं?

– हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए मंगलवार को सिंदूर अर्पित करना चाहिए.

– अगर मंगल बाधा दे रहा हो या कोई विशेष संकट हो, तो हनुमान जी को चमेली का तेल और सिंदूर अर्पित करना चाहिए.

– पुरुष हनुमान जी को सिंदूर अर्पित कर सकते हैं और लेपन भी. लेकिन मान्यता है कि महिलाओं को हनुमान जी को सिंदूर अर्पित नहीं करना चाहिए.

अगर बार-बार नौकरी छूट जाती हो या बदलनी पड़ती हो, तो सिंदूर का कैसे करें प्रयोग?

– किसी भी मंगलवार को हनुमान जी के चरणों में सिंदूर रखें.

– एक सफ़ेद कागज़ पर उस सिंदूर से स्वस्तिक बनाएं.

– इस कागज़ को अपने पास रखें.

– नौकरी की हर समस्या जल्द दूर होगी.

कर्ज से मुक्ति पाने के लिए सिंदूर का प्रयोग कैसे करें-

– चमेली के तेल में सिंदूर मिलाएं.

– जितनी आपकी उम्र है, उतने पीपल के पत्ते ले लें.

– हर पत्ते पर “राम” लिखें.

– मंगलवार को हनुमान जी को अर्पित करें.

– कर्ज से जल्दी मुक्ति मिल जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.