3 ऐसे जड़ी बूटी जिनके सेवन से तनाव, चिंता और अवसाद से मुक्ति मिल जाती है

अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन के बीच में संघर्ष करते हुए, हम अक्सर चिंता और तनाव का शिकार हो जाते है। इस तानव और स्ट्रेस की वजह से हमारा जीवन निरर्थक बन जाता है। दुनिया की आधी से ज्यादा बीमारियां चिंता और तनाव से ही उत्पन्न होती है।

लगातार चिंता और तनाव से शरीर अंदर से खोखला हो जाता है। इस चिंता और तनाव को कम करने के लिए आराम कि सख्त जरूरत पड़ जाती है। कुछ एक्स्पर्ट ध्यान और मेडिटेशन का सहारा लेने के लिए भी कहते है। आयुर्वेद में ऐसे भी कुछ जड़ी बूटियां है जिनके इस्तेमाल करने से तनाव और चिंता से काफी हद तक आराम मिलता है। यहां 3 जड़ी बूटियों के नाम दिए गए है जिनसे तनाव और चिंता से मुक्त हुआ जा सकता है।

अश्वगंधा:

अश्वगंधा एक शक्तिशाली कायाकल्प करने वाली जड़ी बूटी है, जिसका उपयोग पिछले 2000 वर्षों से आयुर्वेदिक उपचारों में किया जा रहा है। इंडियन जर्नल ऑफ साइकोलॉजिकल मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अश्वगंधा शरीर में कोर्टिसोल स्तर को कम करने में मदद करता है, जो कि एक तनाव बढाने वाला ऑर्गैन है। अश्वगंधा के नियमित सेवन से चिंता, तनाव, अवसाद और नींद ना आने की समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है।

ब्राह्मी:

ब्राह्मी का उपयोग आयुर्वेद में याददाश्त बढ़ाने, चिंता को कम करने, और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से निपटने के लिए किया जाता है। अध्ययन से पता चला है कि ब्राह्मी मस्तिष्क कि कार्य क्षमता को बढ़ा देती है, जिससे चिंता, तनाव और अवसाद दूर होने लगते है।

तुलसी:

तुलसी एक ऐसी जड़ी बूटी है जो लगभग हर घर में पाई जाती है। तुलसी अपने शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट गुणों के लिए जानी जाती है, और रक्त शर्करा को सामान्य करने में मदद करती है। तुलसी में ऐसे तत्व पाए जाते है जिससे शांति कि भावना बढ़ जाती है और चिंता व तनाव कम होने लगती है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *