एक ऐसा अभिनेता जो प्रधानमंत्री का रिश्तेदार रहा लेकिन आज पाईपाई को मोहताज

ऐसी शख्सियत के बारे में बात करने जा रहे हैं जो एक अभिनेता भी है और जो कभी प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का रिश्तेदार भी था और जो पाकिस्तान की जेलों में भी रहा। जी हां हम बात कर रहे हैं अभिनेता हंगल साहब के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं कि कभी यहां देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के रिश्तेदार भी हुआ करते थे। दरअसल इनका जन्म कश्मीर में कश्मीरी पंडित जाति में हुआ था लेकिन इनका शुरुआती जीवन या यूं कहें बचपन पाकिस्तान के पेशावर में बीता यहीं से उन्होंने एक्टिंग करी। वह कैफ़ी आज़मी और बलराम साहनी के साथ एक्टिंग क्या करते थे उन्होंने आजादी की लड़ाई भी लडी। 2 सालों तक वह कराची की जिलों में रहे क्योंकि वह मार्क्सवादी थे इसलिए जेलों में रहना पड़ा। जेल से सन 1949 में मुक्त होकर परिवार सहित मुंबई आकर रहने लगे।

फिल्म शोले का मशहूर डायलॉग इतना सन्नाटा क्यों है भाई यह उन्होंने ही बोला था लगभग 225 फिल्मों में अभिनय करने के बावजूद आज इस अभिनेता की आर्थिक स्थिति बहुत खराब रही उनके पास अपना इलाज कराने के लिए भी पैसे नहीं रहे 26 अगस्त को उनकी पुण्यतिथि मनाई जाएगी।

एक बार इनके साथ दुर्घटना हो गई हो और यहां घायल हो गए हुआ यूके एक बार यहां बाथरूम में फिसल कर गिर पड़े और इनकी पीठ में चोट आ गई साथ ही साथ लिखिए जांग की हड्डी भी टूट गई नया अस्पताल ले जाया गया और सर्जरी के लिए बोला गया चुके इनके सांस की तकलीफ थी इसलिए सर्जरी नहीं हो चुकी और अंत में इन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम रखा गया। और फिर धीरे-धीरे इनकी हालत इतनी खराब हो गई जिन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।

हंगल साहब की जिंदगी में एक दिन ऐसा आया कि उनकी हालत इतनी खराब हो गई कि उनके पास दवाइयों की बेल भरने तक को पैसे नहीं होते गए उन्हें एक छोटी सी कमरे में जिंदगी गुजारनी पड़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.