सहवाग के ये 3 रिकॉर्ड तोड़ना कोहली के लिए लगभग नामुमकिन है,जाने क्यों

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि भारतीय क्रिकेट में ऐसे बहुत से खिलाड़ी हैं जिन्होंने ऐसे ऐसे रिकॉर्ड बनाया है जिसे तोड़ना नामुमकिन है आज हम बात कर रहे हैं सहवाग की जिनके रिकॉर्ड को तोड़ना नामुमकिन है जिसे कोहली भी नहीं तोड़ सकते चलिए हम आपको बताते हैं वह रिकॉर्ड हैं कौन से,

1 .छक्का लगाकर पहला तिहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड
आपको बता दें कि सब आगे कैसे मात्र खिलाड़ी है जिन्होंने बतौर कप्तान वनडे में दोहरा शतक बनाए हुए हैं वही बात की जाए तो उन्होंने अपने पहले मैच में तिहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया है.

Image result for सहवाग के ये 3 रिकॉर्ड तोड़ना कोहली के लिए लगभग नामुमकिन है,जाने क्यों"

वीरेंद्र सहवाग ने 29 मार्च 2004 को मुल्तान में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच में वीरू ने यह कारनामा कर दिखाया था जिसके बाद से उन्हें ‘मुल्तान का सुल्तान’ पुकारा जाने लगा।

२.वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक

वीरेंद्र सहवाग ने 8 दिसंबर 2011 के दिन वेस्टइंडीज के खिलाफ कप्तान करने उतरे वहां उन्होंने 149 गेंदों में 25 चौके और 7 छक्कों की मदद से 219 रनों की पारी खेली और सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड भी तोड़ा था.जिसे वह इंटरनेशनल क्रिकेट में बतौर कप्तान वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले एकमात्र खिलाड़ी बन गए.

3 . 100 से कम गेंद खेलकर 7 टेस्ट शतक पूर्ण करने का रिकॉर्ड

बात की जाए वीरेंद्र सहवाग की टेस्ट मैचों के बारे में तो उन्होंने कुल 23 टेस्ट मैच खेले हैं  इनमें से सात शतक सौ से कम गेंदों पर बनाये,

सहवाग ने अपने पूरे टेस्ट करियर में कुल 1233 चौके और 91 छक्के लगाए जबकि कोहली ने अपने टेस्ट करियर में 27 शतक लगा चुके है लेकिन एक बार भी 100 से कम गेंदे खेलकर शतक पूरा नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.