अगले 6 महीने तक यहां कर्मचारियों को 20% कम वेतन मिलेगा, जानिए क्या पूरा हुआ है माजरा?

कोरोनावायरस इंड लॉकडाउन में सबसे अधिक अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई, जिसमें पहले ही आर्थिक संदेह का संकट झेल रहा औटो सेक्टर और बुरा असर पड़ा है। यही कारण है कि दिग्गज ऑटो कंपनी टीवीएस मोटर्स ने चौपट हुए कारोबार को बचाने के लिए अधिकारी स्तर के सभी कर्मचारियों के वेतन में अगले छह महीने के लिए 20 फीसदी की कटौती करने का ऐलान किया है।

कंपनी के मुताबिक मई से अक्टूबर के बीच कर्मचारियों के वेतन में 20 फीसदी की कटौती अस्थायी है। हालांकि पहहिया वाहन बनाने वाली टीवीएस कंपनी ने एंट्री लेवल के कर्मचारियों की सैलरी में किसी कटौती से इनकार किया है, लेकिन जूनियर एग्जिक्यूटिव लेवल वाले कर्मचारियों के वेतन में 5 प्रतिशत कटौती का प्रस्ताव है जबकि सीनियर मैनेजमेंट लेवल के कर्मचारियों के वेतन में 15-20 प्रति। कटौती करता है।

गौरतलब है टीवीएस मोटर्स ही पहली कंपनी नहीं है, जिसने कोरोनावायरस इंड लॉकडाउन से बर्बाद हुए कब्ज को संभालने के लिए कर्मचारियों की सैलरी में कटौती की घोषणा की है। इस फेहरिस्त में कई कंपनियां शामिल हैं, जिन्होंने न केवल सैलरी बल्कि कर्मचारियों की छंटनी को घोषणा की है।

रिपोर्ट के मुताबिक बेनुरू की स्टार्टअप कंपनी लिवेड्स और ऑटो कंपनी रिको ऑटो कंपनी प्रमुख हैं। स्टार्टअप कंपनी लिवस्पेन अपने कुल कर्मचारियों में से 15 प्रति कर्मचारियों की छंटनी को घोषणा कर चुकी है, जिससे कंपनी के कुल 450 लोगों की छंटनी की जा चुकी है। वहीं, रिको ऑटो ने 119 स्थायी कर्मचारियों की छंटनी कर दी है।

पहहिया वाहन बनाने वाली भारत की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी TVS है

पहहिया वाहन बनाने वाली भारत की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी टीवीएस मोटर ने गत 6 मई से देश में अपने तमाम मैन्युफैक्चरिंग इंजीनियरिंग में कामकाज शुरू कर दिया था। कंपनी के पास चार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट हैं, जिनमें से तीन भारत (TN के होसुर, कर्नाटक के मैसूर और हिमाचल प्रदेश के नालागढ़) में हैं, जबकि एक इंडोनेशिया के कारावांग में है। घरेलू बाजार में वाहन बेचने के अलावा कंपनी दुनिया के 60 देशों में अपनी गाड़ियों का निर्यात करती है।

कर्मचारियों की सैलरी में कटौती को लेकर दिए गए एक बयान टीवीएस मोटर कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि अप्रत्याशित संकट को देखते हुए कंपनी छह महीने (मई से अक्टूबर, 2020) के लिए विभिन्न स्तर के कर्मचारियों के वेतन में अस्थायी कटौती करने जा रही है। ‘ प्रवक्ता ने यह भी कहा कि निचले दिशा के कर्मचारियों के वेतन में कोई कटौती नहीं की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *