चार ऐसे बल्लेबाज जिन्होंने असंभव को करके दिखाया है संभव

आज हम बात करेंगे क्रिकेट के कुछ ऐसे रिकॉर्ड के बारे में जिसका बनना लगभग असंभव था।लेकिन इन चार दिग्गज खिलाड़ियों ने संभव करके दिखाया है।तो चलिए देखते है वे खिलाड़ी कोन कोन है।

01.एम एस धोनी

इस लिस्ट में पहले स्थान पर आते है धोनी।दोस्तो विश्वकप में इतिहास में कोई भी टीम अपनी घर में विश्वकप जितने का कारनामा नहीं कर पाया था।लेकिन साल 2011 में भारत ने धोनी कि कप्तानी में भारत में यानी की अपने घर में विश्वकप जीता था।और धोनी ने क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में खिताब जीतकर दिखाया है,जो कि लगभग नामुमकिन है।

02.रोहित शर्मा

रोहित शर्मा ने क्रिकेट के नए अध्याय लिखना शुरू कर दिया है।ये हर दिन नए कीर्तिमान रचते जा रहे है।इन्होंने क्रिकेट में तीन बार दोहरा शतक लगाया है।जो बाकी सारे बल्लेबाजों के लिए असंभव लग रहा है।इतना ही नहीं उन्होंने एक ही वर्ल्डकप में 5 शतक जड़कर दिखाया है।साल 2015 की विश्वकप में जब संगकारा ने 4 शतक लगाया था,तो सबको लगा था कि ये रिकॉर्ड अब टूटने वाला नहीं है।लेकिन इस असंभव को रोहित ने अगले ही वर्ल्डकप में संभव बनाकर दिखाया है।

03.सचिन तेंडुलकर

वनडे क्रिकेट में बल्लेबाज 185 तक पहुंच गए थे।डोहर शतक लगाना नामुमकिन लग रहा था।खुद सचिन भी 186 पर अपना विकेट गंवा चुके थे।तभी सेहवाग ने उनसे कहा था कि आपकी 200 तो मिस हो गई।तब तेंडुलकर ने कहा एक दिन दोहरा शतक जरूर लगाऊंगा।और 2010 में इस असंभव को सचिन आखिरकार संभव करके दिखाए था।उसके बाद साल 2012 में सेहवाग 2013 और 2014 में रोहित 2015 में क्रिश गेल और गुप्टिल साल 2017 में एक बार फिर रोहित ने दोहरा शतक लगाया है।

04.युवराज सिंह

2007 की टी20 विश्वकप में युवराज ने एक ओवर में छह छक्के लगाकर असंभव को संभव करके दिखाया है।और उसी मैच उन्होंने मात्र 12 गेंदों पर 50 जड़कर दिखाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.