दिल्ली हिंसा चांद बाग इलाके में हेड कॉन्स्टेबल की मौत

दोस्तों आपको बता दे की उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को दिल्ली के शाहीन बाग इलाके से प्रदर्शनकारियों को हटाए जाने संबंधी याचिकाओं की सुनवाई 23 मार्च तक के लिए यह कहते हुए स्थगित कर दी कि माहौल सुनवाई के माकूल नहीं है। न्यायालय ने फिलहाल कोई आदेश देने से भी इन्कार कर दिया। शीर्ष अदालत ने साथ ही दिल्ली हिंसा मामले की विशेष जांच दल (एसआईटी) से जांच संबंधी भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर की याचिका खारिज कर दी। न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की खंडपीठ ने कहा कि यह मामला दिल्ली उच्च न्यायालय सुन रहा है, इसलिए वह इस मामले में हस्तक्षेप नहीं करेगी।

दोस्तों हिंसा प्रभावित चांद बाग़ इलाके में बुधवार को इंटेलिजेंस ब्यूरो के हेड कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा का शव बरामद हुआ है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक़, अंकित पत्थरबाज़ी का शिकार हुए हैं. जानकारी के मुताबिक़ उनके पिता रवीन्द्र शर्मा भी आईबी में ही हेड कॉन्सटेबल हैं. शव को पोस्टमार्टम के लिए गुरु तेग बहादुर अस्पताल भेजा गया है.

दोस्तों उत्तर पूर्वी दिल्ली के चांद बाग़ इलाक़े के नाले से उनका शव बरामद हुआ है. पुलिस अभी पूरे मामले की छानबीन कर रही है. चांद बाग पुलिया पर नाले से आईबी के कॉन्स्टेबल का शव निकाला गया. मृतक अंकित शर्मा खजूरी में रहते थे. बताया जा रहा है कि मंगलवार शाम को वह ड्यूटी से घर लौट रहे थे. आरोप है कि चांद बाग पुलिया पर कुछ लोगों ने उन्हें घेर लिया.

दोस्तों दिल्ली हिंसा पर कांग्रेस नेता अलका लांबा ने कहा, “हम घायलों और उनके परिजनों से मिले। इस इलाके में आज कोई ताजा हिंसा नहीं हुई है। इलाके में सुरक्षाकर्मी तैनात हैं।

दिल्ली हिंसा पर प्रतिक्रिया देते हुए केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने कहा, “नफरत की एक सक्रिय मुहिम चल रही है। यहचिंता की बात है कि बीजेपी नेताओं ने घृणा फैलाने और उकसाने’ का काम किया है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.