Iphone 12 में कंपनी अपने बॉक्स में चार्जर क्यों नहीं दे रही है?

iPhone 12 में चार्जर नहीं होने का कारण जो एप्पल कंपनी ने बताया है वह यह है कि वह पर्यावरण में होने वाले नुकसान को रोकना चाहते हैं, और कार्बन की अधिकता को कम करना चाहते हैं।

वैसे तो यह अच्छी बात है यदि कंपनी ऐसा सोच रखती है, किन्तु इसकी आवश्यकता तो कई वर्षों से थी ऐसा कहना भी गलत नहीं होगा।

यदि आप पर्यावरण कि चिंता करते हैं तो यह कर बहुत पहले है एप्पल कंपनी को करना चहिए था।

जहां सभी देशों में एप्पल आईफोन की कीमत 1000 डॉलर है, है वही भारत में यह 2000 डॉलर में बिक रहा है, वो भी बिना चार्जर के साथ, ऐसे में आप क्या कहेंगे क्या एप्पल कंपनी को पर्यावरण की चिंता है या यह चार्जर नहीं देने के निर्णय को सार्थक करने का प्रयास है।

एप्पल अपने ढेरों एसेसरीज बेच कर अलग से पैसे कमाते आया है और अब वे चार्जर के लिए आपसे अलग से पैसे लेंगे और उनके देखा देखी में दूसरे स्मार्टफोन कंपनियां भी अपने फोन से चार्जर को गायब कर देगे।

क्या आप बिना चार्जर के फोन लेना पसंद करेंगे, यह फायदेमंद उनके लिए हैं जिनके पास पहले से चार्जर हो किन्तु आप बताए क्या आप हमेशा एक ही कंपनी के फोन खरीदते हैं यदि आपको दूसरे कंपनी के फोन खरीदने हैं तो आपको अलग से चार्जर के लिए पैसे खर्च करने होंगे।

भविष्य में और भी कंपनियां चार्जर को अपने फोन से हटा देंगे और इनका नुकसान हम जैसे ग्राहकों पर होगा।

हमे कंपनी के ऐसे निर्णय का समर्थन नहीं करना चाहिए और इसके खिलाफ बोलना चाहिए या कोई पेटीशन चलना चाहिए ताकि कंपनियों को जानकारी हो सके कि उनके द्वारा लिए गए निर्णय को ग्राहक स्वीकार नहीं करते हैं, जिससे की कम्पनियों की मनमानी रोकी जा सके।

पहले हेडफोन, फिर हेडफोन जैक और अब चार्जर हो सकता है कुछ समय बाद खाली डिब्बा ही खरीदना पड़े और बाकी प्रोडक्ट को अलग से बेचा जाए , भविष्य तो ऐसा ही लग रहा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *