जानिए कैसे पता चलता है कि बच्चा केवल दूध पलट रहा है या उल्टी कर रहा है?

यदि शिशु स्तनपान के तुरंत बाद थोड़ा-सा दूध निकाल दे, तो उसे पासिटिंग कहा जाता है। ऐसे में जब बच्चा दूध निकालता है, तो यह मुंह से अपने आप और बिना किसी बल के बाहर आ जाता है। दरअसल, शुरुआती कुछ सप्ताह में शिशु की फूड पाइप व पेट की मांसपेशियां पूरी तरह से विकसित नहीं होती हैं। इसी वजह से पिए हुए दूध का कुछ भाग दोबारा ऊपर आ जाता है।

वहीं ब्रेस्टफीडिंग के कुछ देर बाद थोड़ी मात्रा में बच्चे का दूध पलटना, रिफ्लक्स कहलाता है। इसके अलावा, कभी-कभी नवजात शिशु दूध पीते समय कुछ हवा भी अंदर ले लेता है, जो डकार के रूप में बाहर निकलती है। डकार के साथ थोड़ा-सा दूध भी बाहर निकल आता है। इसमें चिंता करने की कोई बात नहीं है।

जब शिशु उल्टी या वॉमिटिंग करता है, तो दूध जोर के साथ बाहर निकालता है और ऐसे में बेबी रो सकता है। वहीं, दूध उलटने की तुलना में वॉमिट की मात्रा ज्यादा होती है। उल्टी करते समय बच्चा चिड़चिड़ा हो सकता है और उल्टी में म्यूकस (बलगम) भी आ सकता है।

शिशुओं में रिफ्लक्स या दूध उलटने की समस्या को पासेटिंग भी कहा जाता है। इसकी समस्या तब होती है जब शिशु दूध पीने के तुरंत बाद उसकी उल्टी कर देता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि, बच्चे दावा पीया गया दूध भोजन नलिका में ऊपर की तरफ आ गया होता है। मेडिकल टर्म में इसे गैस्ट्रो इसोफेगल रिफ्लक्स (जी.ई.आर.डी) कहा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads by Eonads
Translate »