क्रिकेट बोर्ड से पन्गा लेकर इन खिलाड़ियों ने कर लिया अपना करियर जानिए उनके बारे में

आज हम आपको उन खिलाड़ियों के बारें में बताएँगे. जिनका करियर क्रिकेट बोर्ड ने अपनी जिद में खत्म कर दिया| इस लिस्ट में शामिल सभी खिलाड़ी बहुत अधिक प्रतिभाशाली रहे हैं| हालाँकि बोर्ड ने उन्हें अपने देश के लिए उस प्रतिभा को दिखाने का पूरा अवसर नहीं दिया|

अंबाती रायडू

भारतीय टीम के खिलाड़ी अंबाती रायडू का करियर बोर्ड के साथ लड़ाई के कारण ही खत्म माना जाता है| रायडू के करियर में उन्होंने कई बार बोर्ड से पंगा लिया है|

करियर के शुरू में ही उन्होंने आईसीएल में खेल कर बीसीसीआई से पंगा ले लिया था जिसके बाद उन्हें आगे खेलने का मौका नहीं मिला |

हालाँकि पहले आईपीएल में और उसके बाद भारतीय टीम में उनकी वापसी हो गयी| लेकिन वो कभी भी टीम के नियमित सदस्य नहीं बन पायें| लेकिन विश्व कप 2019 के दौड़ में वो नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए बहुत आगे चल रहे थे| लेकिन उनका चयन अंत समय में नहीं हुआ|

अंबाती रायडू ने उसके बाद एक ट्वीट कर दिया,जिसमें उन्होंने 3 डी जैसा ट्वीट कर दिया| जिसके बाद खिलाड़ियों के चोटिल होने पर भी अंबाती रायडू को टीम में मौका नहीं दिया गयाहै |

शोएब अख्तर

पाकिस्तान टीम के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर की जब भी बात होती है तो उसमें गति और विवाद दोनों का नाम जरुर आता है|

.अपने गति से जिस तरह से उन्होंने बल्लेबाजो को जमकर परेशान किया थ| खुद वो क्रिकेट बोर्ड से विवाद के कारण उससे भी ज्यादा परेशान नजर आयें |

शोएब अख्तर अपने पूरे करियर में पीसीबी से लड़ते हुए ही नजर आये| इसी वजह से वो जितना मैच खेल सकते थ| उतने मैच अपने करियर में नहीं खेल पाये| बोर्ड से विवाद के कारण ही उन्हें करियर के अंत में प्लेइंग इलेवन से लगातार बाहर रखा जाता रहा था जिसमें से एक 2011 विश्व कप का सेमीफ़ाइनल मैच भी था |

ड्वेन ब्रावो

वेस्टइंडीज के आलराउंडर खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो का करियर भी उसी अंदाज में खत्म होने के तरफ गया | हालाँकि पिछले समय ही उनकी टीम में वापसी हुई है |

उम्मीद है की वो टी20 विश्व कप 2020 में वेस्टइंडीज टीम में शामिल होंगे, हालाँकि उनकी प्रतिभा का इस्तेमाल पूरी तरह से नहीं हो पाया |

ड्वेन ब्रावो उन खिलाड़ियों में से एक हैं | जिन्होंने सीधे ही बोर्ड से पंगा लिया था. 2014 में जब वेस्टइंडीज की टीम भारत दौरे पर थी | उस समय मैच फीस ना मिलने के कारण वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों ने सीरीज खेलने से मना कर दिया था | जिसके बाद से बोर्ड और ब्रावो के बीच लड़ाई का आगाज हुआ | ब्रावो को उसके बाद से लगातार टीम से बाहर रखा जाता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.