राजस्थान के इस मंदिर में होती है बुलेट मोटरसाइकल की पूजा जानिए कैसे

दोस्तों भारत एक ऐसा देश है जिसके पग पग पर कहानियाँ है। कभी यह कहानियां हमें उकसाती है तो कभी हसती है। पर कभी कुछ ऐसी कहानियां भी होती है जो दिल के किसी कोने में एक उत्सुकता को जगा देती है। ऐसी ही एक कहानी हम आपको बताने जा रहे है।

आज हम आपको जो कहानी बताने जा रहे है वो है बुलेट बाबा की। जी हाँ बुलेट बाबा जिन्हे ओम बन्ना के नाम से भी जाना जाता है एक लोकदेवता के रूप में राजस्थान के घर घर में पूजे जाते है।

ओम बन्ना जिनका मंदिर राजस्थान के पाली जिले में है और उनके मंदिर की सबसे खास बात यह है की इस मंदिर की किसी देवता की पूजा नहीं होती है बल्कि पूजा होती है एक मोटरसाइकल की। जी हाँ और यह मोटरसाइकल है है खुद ओम बन्ना की. कहा जाता है की एक बार इस जगह पर जंहा आज मंदिर है वंहा ओम बन्ना की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गयी थी।

तब उनकी मोटरसाइकल को घर पर ले जा कर खड़ा कर दिया गया था. परन्तु कुछ दिनों बाद मोटरसाइकल खुद चल कर पहुंच जाती थी. मोटरसाइकल का पेट्रोल निकल देने के बाद भी यह सिलसिला रुका नहीं। तब इसे चमत्कार मान कर मोटरसाइकल को वंही पर खड़ा कर दिया गया और मंदिर की स्थापना कर दी गयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *