RFID का प्रयोग करने वाला है रेलवे यात्रियों के लिए बढ़ेंगी सेवाएं।

भारत सरकार द्वारा रेल मंत्रालय को आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत विकसित करने की योजना चल रही है। जिसकी वजह से रेल मंत्रालय भारतीयों द्वारा बनाए गए आविष्कारों को अपनी ट्रेनों में लागू कर रहा है। ट्रेन स्टेशन पर आते ही कोच के स्थान का पता लगाने के लिए रेल मंत्रालय रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन यह तकनीक को लगाने का निश्चय किया है। आरएफआईडी हर एक ट्रेन के डिब्बे पर लगाई जाएगी जिसके बाद स्टेशन के ऑफिस द्वारा हर एक कोच की जानकारी स्पीकर द्वारा रेल जातियों को दी जाएगी। भारत सरकार ने ट्रेन और स्टेशनों पर ठंडे पानी के लिए नए इंतजाम किए हैं। रेल मंत्रालय द्वारा भारत में विकसित शून्य ऊर्जा खपत वाला वाटर कूलर लगाने का निर्णय लिया गया है। जिसके पश्चात रेल यात्रियों को ठंडे पानी की सुविधा मुफ्त में प्रदान की जा सकती है।

आरएफआईडी का उपयोग अभी तक पैसे के लेनदेन और बड़े जनरल स्टोर में अपनी वस्तुओं को पहचानने के लिए किया जाता था ताकि यदि बड़े स्टोरों में किसी भी बस द्वारा किसी भी वक्त की चोरी हो तो उसकी जानकारी स्टोर के मालिक को प्राप्त हो जाए। अब इसी प्रणाली को भारतीय रेल कोच के स्थानों को पता लगाने के लिए प्रयोग करेगी। रेलवे द्वारा अन्य सुविधाओं की घोषणा की गई जिसमें क्यू आर कोड द्वारा टिकट वेरिफिकेशन और मोबाइल फोन पर स्टेशन और गाड़ी के चलने की जानकारी को रेल यात्रियों को पहुंचाया जाएगा इसी के साथ अन्य अविष्कार भी रेलवे अपनी स्टेशनों और ट्रेनों में लागू करने जा रहा है। जिसकी जानकारी शीघ्र ही आपको मीडिया के हवाले से प्राप्त हो जाएगी आत्मनिर्भर भारत में रेलवे में नई जान ला दी है। रेलवे अपने वाईफाई वाले स्टेशनों की संख्या में बढ़ोतरी करने के विषय में भी चर्चा कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.